Stop Loss Meaning In Hindi

एडमिरल मार्केट्स
20 मिनट मे पढ़ेंं

आपकी व्यापारिक यात्रा में, विशेष रूप से एक शुरुआत के रूप में, आपकी शिक्षा का एक प्राथमिक बिंदु यह सीखना है कि स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट का उपयोग कैसे करें। 

क्या आप इस विषय से पूरी तरह वाकिफ हैं? यह लेख में हम स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट क्या है, इन्हे कैसे सेट करें और इनसे जुड़ी कई बातों की चर्चा करेंगे। 

पढ़ने का आनंद लें.....

Stop Loss Meaning In Hindi

स्टॉप लॉस एक ऑर्डर है जिसे आप अपने ब्रोकर को भेज कर उन्हें किसी विशेष खुली स्थिति या ट्रेड पर नुकसान को सीमित करने का निर्देश देते हैं।

यह आपके प्रवेश मूल्य से पिप्स की एक निर्दिष्ट राशि होती है। आप किसी भी शार्ट या लॉन्ग स्थिति के लिए स्टॉप लॉस लागू कर सकते हैं, जिससे यह आपकी ट्रेडिंग रणनीति का एक महत्वपूर्ण घटक बन जाता है। स्टॉप लॉस का उपयोग करना सीखना आपके जोखिम प्रबंधन का एक महत्वपूर्ण कारक है।

स्टॉप लॉस के साथ साथ जो अवधारणा जाती है वो है टेक प्रॉफिट। जब कीमत एक निर्दिष्ट मूल्य स्तर तक पहुंच जाती है, तो एक निश्चित लाभ को सुरक्षित करने के लिए आप ब्रोकर को आपकी स्थिति या व्यापार को बंद करने के लिए सूचित करते हैं। इस स्तर को टेक प्रॉफिट कहा जाता है। 

टेक प्रॉफिट के बारे में अधिक जानने के लिए आप यह लेख पढ़ सकते हैं:

व्यापार में Take Profit आदेश का उपयोग कैसे करें

एक लाइव खाता खोलें

लाइव बाज़ारों में ट्रेड करें और कॉपी ट्रेडर्स की सदस्यता लें कुशलता से निवेश करें

Stop loss In Trading महत्वपूर्ण क्यों हैं?

शुरुवाती व्यापारी अक्सर पूछते हैं के Is stop loss a good idea? उत्तर हैं हाँ।

कोई भी पैसा खोने के लिए बाजार में प्रवेश नहीं करता है, और हर कोई लाभ की उम्मीद करता है। इसके बावजूद, आँकड़े यह दर्शाते हैं कि केवल कुछ प्रतिशत व्यापारी ही अपने खाते को शून्य किए बिना बाजार में ट्रेडिंग कर सकते हैं।

ऐसा क्यों?

चूँकि मानव मानस अविश्वसनीय है, खासकर जब बात उन स्थितियों को छोड़ देने की अति है जो हमारे लिए भावनात्मक रूप से नकारात्मक रही हैं। हर कोई ज़्यादा मुनाफे की आशा में स्थितियों को रखते हैं, जिससे वह बहुत ज़्यादा जोखिम ले लेते हैं। और अंत में नतीजा होती है नुकसान। 

एक स्टॉप लॉस आदेश:

✔️ पूंजी की रक्षा करता है

✔️ जब तक मूल्य निर्दिष्ट स्तर तक नहीं पहुंचता, यह तब तक लंबित रहता है

✔️ स्वचालित रूप से एक खोने की स्थिति को बंद कर देता है

स्टॉप-लॉस सेट करना विशेष रूप से उपयोगी है क्योंकि:

➡️ यह निर्णय लेने की प्रक्रिया से भावनाओं को हटा दता है

➡️ इसके वजह से हर समय अपनी स्थिति को नियंत्रित करने की आवश्यकता नहीं है

स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट के बारे में सीखने के अधिक इंटरैक्टिव तरीके के लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखने के लिए कुछ समय दें:

Stop Loss Kaise Lagaye?

Stop loss kaise lagaye के लिए एक व्यापारी को सबसे पहले स्टॉप लॉस की एक तर्कसंगत स्तर पर के बारे में विचार करना चाहिए। इसका मतलब एक ऐसी स्तर है जो व्यापारी को यह सूचित करेगा की उनका व्यापार संकेत अब मान्य नहीं हैं।

सही तरीके से व्यापार से बाहर निकलने के कई टिप्स हैं, जैसे के:

❶ बाजार को उस पूर्व-निर्धारित स्टॉप-लॉस को हिट करने दें, जो आपने व्यापार में प्रवेश करते समय रखा था।

❷ एक अन्य विधि मैन्युअल रूप से बाहर निकलना है, क्योंकि मूल्य कार्रवाई ने आपकी स्थिति के खिलाफ एक संकेत उत्पन्न किया है।

How to calculate stop loss and target level जानना महत्वपूर्ण है। यह उल्लेख करना भी ज़रूरी है कि निकास आखिर में सम्पूर्ण भावना-आधारित हो सकते हैं। 

उदाहरण के लिए, आप मैन्युअल रूप से एक व्यापार को बंद कर सकते हैं, क्योंकि आपको लगता है कि बाजार आपके स्टॉप-लॉस को हिट करने वाला है। इस मामले में, बाजार आपकी स्थिति के खिलाफ बढ़ रहा है, लेकिन मूल्य कार्रवाई के आधार पर मैन्युअल रूप से बाहर निकलने का कोई कारण नहीं है - फिर भी आप भावुक हो कर निकल जाते हैं।

स्टॉप-लॉस का अंतिम उद्देश्य एक व्यापारी को ट्रेड सेटअप के अंत तक ट्रेड में रहने में मदद करना है। स्टॉप लॉस ऑर्डर रखने पर एक पेशेवर व्यापारी का उद्देश्य स्टॉप को उस स्तर पर रखना है, जो ट्रेड रूम को व्यापारी के पक्ष में जाने के लिए अनुदान देता है।

अनिवार्य रूप से, जब आप अपना how to place stop loss order डालने के लिए सबसे अच्छी जगह ढूंढ रहे हैं, तो आपको निकटतम तर्कसंगत स्तर के बारे में सोचना चाहिए, जो अगर आपके व्यापार संकेत गलत साबित होता है, तो बाजार हिट करेगा। इसलिए, स्टॉप-लॉस व्यपारियां को बाजार में सांस लेने के लिए जगह देते हैं, और एक ऐसी स्तर पर स्टॉप-लॉस को रखते हैं, जहाँ से वह आसानी से निकल सकें। Stop loss meaning in share market जानकर स्टॉप लॉस का उपयोग करने के प्रमुख नियमों में से एक यह है।

बहुत सारे व्यापारी अपने स्टॉप-लॉस को अपने प्रवेश बिंदु के बहुत करीब रखकर खुद को सीमित कर देते हैं, क्यूंकि वह एक बड़े आकार के स्थिति का ट्रेडिंग करना चाहते हैं। लेकिन फंदा यह है कि जब आप अपने स्टॉप को बहुत पास रखते हैं, तो आप वास्तव में अपने ट्रेडिंग को सिमित्त करते हैं, क्योंकि आपको अपने ट्रेडिंग सिग्नल और वर्तमान बाजार की स्थितियों के आधार पर अपने स्टॉप-लॉस को रखने की आवश्यकता है, न कि इस आधार पर की आप कितना पैसा बनाने की आशा रखते हैं। 

👉 इसलिए, अपने स्थिति को पहचानने से पहले आपके स्टॉप-लॉस को परिभाषित करें।

👉  इसके अलावा, आपका स्टॉप-लॉस स्तर तर्क द्वारा निर्धारित किया जाना चाहिए। लालच को आपको नुकसान की ओर न ले जाने दें।

दुनिया के शीर्ष उपकरणों में निवेश करें

आपकी उंगलियों पर हजारों स्टॉक और ईटीएफ

Stop Loss Order Example

➡️ पहली स्टॉप लॉस रखने की रणनीति को 'पिन बार ट्रेडिंग स्ट्रैटेजी स्टॉप लॉस प्लेसमेंट' के रूप में जाना जाता है। अपने स्टॉप लॉस को पिन बार सेटअप पर रखने का सबसे तार्किक स्थान आमतौर पर पिन बार की पूछ के उच्च या निम्न से परे होता है।

➡️ दूसरा रणनीति उदाहरण 'इनसाइड बार ट्रेडिंग स्ट्रैटेजी स्टॉप लॉस प्लेसमेंट' है। यहां, स्टॉप लॉस लगाने के लिए सबसे तार्किक स्थान एक आंतरिक बार सेटअप है, जो पूरी तरह से उच्च या निम्न प्राथमिक बार से परे है।

➡️अगली उदाहरण रणनीति 'ट्रेड रेंज स्टॉप प्लेसमेंट' है। प्रत्येक व्यापारी अक्सर एक ठोस व्यापारिक सीमा पर बनने वाले उच्च-संभाव्यता मूल्य कार्रवाई सेटअप देखता है। ऐसे मामलों में, व्यापारी अपने स्टॉप लॉस को ट्रेडिंग रेंज की सीमा के ऊपर, या व्यापार किए जा रहे सेटअप के उच्च या निम्न पर रखना चाह सकते हैं।

स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट का उपयोग करते समय इस पर विचार करें। उदाहरण के लिए, यदि हमारे पास एक ट्रेडिंग रेंज के शीर्ष पर एक पिन बार सेटअप होता है, जो कि ट्रेडिंग रेंज प्रतिरोध के ठीक नीचे होता है, तो हम अपने स्टॉप को ट्रेडिंग रेंज के प्रतिरोध के ठीक बाहर, पिन बार उच्च के थोड़ा ऊपर रखेंगे। 

➡️ अगली उदाहरण रणनीति 'ट्रेंडिंग मार्केट में स्टॉप प्लेसमेंट' है। जब कोई ट्रेंडिंग मार्केट या तो वापस खींचता है, या ट्रेंड के भीतर एक स्तर पर वापस आ जाता है, तो हमारे पास आमतौर पर दो विकल्प होते हैं। पहला विकल्प यह है कि हम स्टॉप लॉस को पैटर्न के उच्च या निम्न के ऊपर रख सकते हैं, या हम स्तर का उपयोग कर सकते हैं, और इसके ठीक नीचे अपना स्टॉप रख सकते हैं। 

➡️अंत में, हम 'ट्रेंडिंग मार्केट ब्रेकआउट प्ले स्टॉप प्लेसमेंट' पर आ गए हैं। यह फॉरेक्स में टेक प्रॉफिट और स्टॉप लॉस के बारे में आपके ज्ञान का विस्तार करेगा। एक ट्रेंडिंग मार्केट में, ट्रेंड के एक शक्तिशाली कदम के बाद, हम अक्सर बाजार को विराम देते और बग़ल में समेकित होते देखेंगे।

इस तरह की समेकन अवधि ज्यादातर प्रवृत्ति की दिशा में बड़े ब्रेकआउट को जन्म देती है, और ये ब्रेकआउट ट्रेड संभावित रूप से व्यापारियों के लिए आकर्षक हो सकते हैं। ट्रेंड के साथ ब्रेकआउट ट्रेड पर स्टॉप प्लेसमेंट के लिए आमतौर पर दो विकल्प होते हैं। आप या तो अपने स्टॉप लॉस को समेकन रेंज के 50% के स्तर के पास रख सकते हैं, या मूल्य कारवाही सेटअप के दूसरी तरफ रख सकते हैं।

ट्रेलिंग स्टॉप लॉस 

स्टॉप लॉस का उपयोग शुरुवाती व्यापारी के लिए काफी लाभ ला सकता है - लेकिन अन्य व्यापारियां अपने धन प्रबंधन को अधिकतम मज़बूत करने पर के लिए एक कदम और आगे बढ़ सकते हैं, और ट्रॉलिंग स्टॉप का उपयोग कर सकते हैं।

Stop loss meaning in share market में ट्रेलिंग स्टॉप वे स्टॉप हैं जिन्हें व्यापारियों के पक्ष में समायोजित किया जाता है, जिससे व्यापार में गलती होने का जोखिम कम हो जाता है।

ट्रेलिंग स्टॉप के बारे में ज़्यादा जानकारी पाने के लिए आप हमारी यह लेख देख सकते हैं:

Admiral Markets के साथ अपने Stop Loss In Hindi ज्ञान को आज़माएं 

जैसा कि जीवन में अधिकांश चीजों के साथ होता है, अभ्यास करना ही इसे समझाने की सबसे अच्छी तरीका है। यदि आपने अभी तक हमारे साथ खाता नहीं खोला है, तो हम आपको पहले हमारे जोखिम-मुक्त डेमो खाते को आज़माने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। आप स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट दोनों का उपयोग करके अभ्यास कर सकते हैं। 

जोखिम मुक्त डेमो खाता

मुफ़्त ऑनलाइन डेमो खाता के लिए पंजीकरण करें और अपनी ट्रेडिंग रणनीति में महारत हासिल करें

 

स्टॉप लॉस क्या है?

स्टॉप लॉस एक ऑर्डर है जिसे आप अपने ब्रोकर को भेज कर उन्हें किसी विशेष खुली स्थिति या ट्रेड पर नुकसान को सीमित करने का निर्देश देते हैं।

 

Stop Loss कैसे करते हैं?

Stop loss kaise lagaye के लिए एक व्यापारी को सबसे पहले स्टॉप लॉस की एक तर्कसंगत स्तर पर के बारे में विचार करना चाहिए। इसका मतलब एक ऐसी स्तर है जो व्यापारी को यह सूचित करेगा की उनका व्यापार संकेत अब मान्य नहीं हैं।

 

अगर आप ट्रेडिंग के बारे में और विस्तार से जानना चाहते हैं, तो यह लेख पड़ें:

सर्वश्रेष्ठ फोरेक्स backtesting software

Automated trading - एक सरल जानकारी

Virtual Trading सॉफ्टवेयर क्या है?

Admiral Markets एक विश्व स्तर पर विनियमित विदेशी मुद्रा और सीएफडी ब्रोकर जो बहु-पुरस्कार का विजेता है। बहुत सारे उपकारणों के इलावा एडमिरल मार्केट्स के वेबसाइट में कई सरे शिक्षा सम्बंधित लेखे है जहाँ से आपको फोरेक्स, शेयर मार्किट, निवेश और भी बहुत कुछ के बारे मे  तथ्य मिलेगा। दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से 500 से अधिक वित्तीय साधनों पर व्यापार की पेशकश करते हैं: मेटा ट्रेडर 4 और मेटा ट्रेडर 5 ।आज ही ट्रेडिंग शुरू करें!

 

इस लेख में दिया गया तथ्य को वित्तीय साधनों में किसी भी लेनदेन के लिए निवेश सलाह, निवेश अनुशंसाएं, प्रस्ताव या अनुशंसा के रूप में समझा नहीं जाना चाहिए। कृपया ध्यान दें कि इस तरह का ट्रेडिंग विश्लेषण किसी भी वर्तमान या भविष्य के प्रदर्शन के लिए एक विश्वसनीय संकेतक नहीं है, क्योंकि समय के साथ परिस्थितियां बदल सकती हैं। कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले, आपको इस विषय से सम्बंधित जोखिमों को समझने के लिए स्वतंत्र वित्तीय सलाहकारों से सलाह लेनी चाहिए।

TOP ARTICLES
एक Pyramid Scam क्या है? क्या यह फोरेक्स पर लागू होता है?
क्या आपने कभी वाक्यांश सुना है "अगर कुछ बहुत अच्छा लगता है, तो शायद यह सच नहीं है"?इन वाक्यांशों की व्याख्या फोरेक्स pyramid scam को रोकने के तरीकों के रूप में की जा सकती है, व्यापार धोखाधड़ी का एक रूप जहां सब कुछ कानूनी और चमकदार लगता है जब तक कि वास्तविकता अपने वजन के नीचे नहीं आती; स्कैमर जेल में...
ट्रेडिंग में Risk Management In Hindi - १० टिप्स
रिस्क मैनेजमेंट व्यापार में सबसे अधिक बहस वाले विषयों में से एक है। एक तरफ, व्यापारी अपने संभावित नुकसान के आकार को कम करना चाहते हैं, लेकिन दूसरी तरफ वह प्रत्येक व्यापार से सबसे अधिक संभावित लाभ भी प्राप्त करना चाहते हैं। ट्रेडिंग करते समय कई व्यापारियों के पैसे खोने का कारण केवल अनुभवहीनता नहीं है...
Brokerage Meaning In Hindi
एक व्यापारी की लाभप्रदता पर brokerage शुल्क के प्रभाव को अक्सर अनदेखा किया जाता है। ध्यान देने के लिए विभिन्न प्रकार के व्यापारिक शुल्क हैं, जैसे के स्प्रेड और स्वैप। यह एक ब्रोकर से दूसरे ब्रोकर से भिन्न होते हैं। इस लेख में हम आपको brokerage meaning in Hindi से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान क...
सभी देखें