Best Broker In India चुनने के लिए 12 मापदंड

Jitanchandra Solanki
19 मिनट मे पढ़ेंं

क्या आप top brokers in India ढूंढ रहें हैं? तो यह गाइड आप ही के लिए बनी है। 

इस लेख में हम आपको best broker in India ढूंढने के लिए एक मागदर्शिका की पेशकश करेंगे। 

पड़ने का आनंद लें!

Broker Meaning In Hindi | ब्रोकर किसे कहते हैं?

अगर आप ट्रेडिंग शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं, तो सबसे पहले आपको एक विश्वसनीय ब्रोकर की ज़रूरत पड़ेगी।

Broker kya hota hai?

एक ब्रोकर एक कंपनी है, जो ट्रेडर या व्यापारीयों को एक ट्रेडिंग प्लेटफार्म प्रदान करते हैं, जो उनको वित्तीय उपकरण खरीदने और बेचने में सक्षम करता है। यह ट्रेडिंग प्लेटफार्म के साथ व्यापारी एक या कई वित्तीय बाज़ारों में विभिन्न तरह के उपकरण में ट्रेड और निवेश कर सकते हैं। 

उनकी मुख्य कमाई ब्रोकरेज या शुल्क होता है। 

Best brokerage खोजने के दौरान आपके देश में उपलब्ध सभी ब्रोकरों के बारे में अनुसन्धान करें। ऑनलाइन आलोचना पढ़ें, और यह भी देखें की क्या वह आपका ट्रेडिंग सम्बंधित ज़रूरतें पूरा कर सकते हैं ?  

काफी सारे ब्रोकर डेमो ट्रेडिंग खाता के ज़रिये अपने भावी ग्राहक को अपना सेवा जांचने का मौका देतें है। इससे आपको उनके सिस्टम का एक अच्छा विचार हो जायगा।

अंतिम निर्णय लेने से पहले, हम आपको सलाह देंगे की आप अपने सारे विकल्प अच्छी तरह से जाँच लें।

जोखिम मुक्त डेमो खाता के साथ ट्रेड करें

आभासी धन के साथ ट्रेडिंग का अभ्यास करें

 

सबसे अच्छा Broker In Hindi चुनने का 12 प्राथमिक मापदंड

आपके उपयुक्त एक अच्छा Forex brokers in India ढूंढने के लिए नीचे दिए गए 12 महत्वपूर्ण विषयों का विचार करें:

1. व्यापारिक उपकरण

जबकि ट्रेडिंग के लिए बड़ी संख्या में वित्तीय उपकरण उपलब्ध हैं, उनमें से सिर्फ कुछ ही बहुत अधिक व्यापारियों का ध्यान आकर्षित करते हैं। 

उदहारण के लिए दुनिया में अनगिनत फोरेक्स जोड़ों का ट्रेडिंग होता हैं, लेकिन उनमें से कुछ गिनेचुने ही सबसे लाभदायक अस्थिरता प्रदान करते हैं, जैसे के USDJPY, EURUSD, और GBP/USD जैसी प्रमुख मुद्रा जोड़ें। 

एक ही साथ काफी सारे वित्तीय उपकरणों में निवेश करने का विकल्प आपके लिए अच्छा होगा। इसी लिए best brokerage firm चुनते समय ऐसा किसी को चुनें, जो आपको बहुत सारे उपकरणों में निवेश करने का सुविधा दें, जैसे के सूचकांक और वस्तुओं में सीऍफ़डी, क्रिप्टो करेंसी, शेयर, इंडेक्स और एक्सचेंज ट्रेडेड फंड।

उदाहरण के लिए, Admiral Markets उपकरणों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है, जैसे के फॉरेक्स, कमोडिटीज, सूचकांक और अधिक के ऊपर सीएफडी, शेयर, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड और भी बहुत कुछ!

2. विभिन्न प्रकार के ट्रेडिंग खाते

एक अच्छा ब्रोकर आपको ट्रेडिंग की विशिष्ट शैलियों के लिए विभिन्न लाभों के साथ कई प्रकार के खातों की पेशकश करेंगे।  इन खातों से आपकी कई ज़रूरतें पूरी हो सकती है, जैसे कि उच्च सुरक्षा, या अधिक लीवरेज या स्प्रेड, या विभिन्न प्रकार के उपकरण।  

फोरेक्स और सीएफडी ट्रेड करें

40 से अधिक मुद्रा जोड़े पर सीएफडी तक पहुंच प्राप्त करें, 24/5

 

3. ट्रेडिंग सम्बंधित लागत - स्प्रेड, कमीशन और लीवरेज

⭕ लिवरेज/उत्तोलन

ऊपर हमने लीवरेज का उल्लेख किया था। चलिए देखें यह क्या है। 

लिवरेज एक ऐसा ऋण है, जो broker Hindi ग्राहकों को मार्जिन के रूप में देतें हैं। अगर एक व्यापारी के forex account India में 10 डॉलर है, तो वो 1:1000 लिवरेज का इस्तेमाल करके 10,000 डॉलर तक का स्थिति ले सकते हैं। 

कोई भी जितने वाले स्थिति में लीवरेज व्यापार के पक्ष में काम करता है, क्यूंकि जो मुनाफा है वह कई गुण बढ़ जातें हैं। परन्तु, लीवरेज का गलत इस्तेमाल से एक ट्रेडर का खाता नस्ट भी हो सकता है, क्यूंकि घाटा होने का खतरा भी उतनी ही बढ़ जाता है। इसी लिए उत्तोलन का इस्तेमाल सावधानी के साथ करना चाहिए। 

⭕ स्प्रेड और कमीशन

दूसरा प्रस्ताव, जो कोई भी ट्रेडिंग को प्रभावित कर सकता है, वह है स्प्रेड और कमीशन।

ज़्यादातर क्षेत्र में brokerage meaning in Hindi स्प्रेड या कमीशन ही होती है। 

Brokers in Hindi इसी स्प्रेड और कमीशन से आय कमाता है। अगर कोई broker Hindi कमिशन पर काम करता है, तो वह एक स्थिति का कुछ प्रतिशत शुल्क ले सकते हैं (यह प्रकार का शुल्क फोरेक्स से ज़्यादा दूसरे उपकरणों में इस्तेमाल होता है जैसे के शेयर और सीऍफ़डी)।

बहुत सारे forex brokers India यह विज्ञापित करते हैं के वह कमीशन नहीं लेते, बल्कि स्प्रेड से अपना आय अर्जित करते हैं। स्प्रेड कोई भी मुद्रा जोड़ी का मांग और बोली के मूल्य का अंतर होता है। स्प्रेड जितना ज़्यादा होता है, forex trading brokers in India का आय उतना ज़्यादा होता है (और आपका मुनाफा उतना ही कम)। जैसे के, वह 3 पिप का एक निश्चित स्प्रेड मांग सकते हैं, या बाजार की अस्थिरता के ऊपर स्प्रेड निश्चित हो सकता है।

कल्पना करें के 1. 3943 - 1. 3946 का एक EURO/USD कोट में 3 पिप स्प्रेड है। इसका मतलब है के जब बाजार का कोई प्रतिभागी इसे 1. 3946 में खरीदते हैं, तो वह स्थिति का 3 पिप मूल्य पहले से ही खो चूका होगा, क्युकी वह 1. 3943 में ही बेचा जा सकता है। इसी लिए, स्प्रेड जितना ज़्यादा होगा, मुनाफा करना उतना ही सख्त हो जायगा। असल में, कम ट्रेड किये जानेवाले जोडी के मुकाबले लोकप्रिय ट्रेडिंग जोड़ी जैसे के GBP/USD और EUR/USD का स्प्रेड ज़्यादातर आस पास ही होता है।

नीचे दुनिया के कुछ प्रमुख Online forex trading broker के स्प्रेड की एक तुलना दी गयी है:

⭕ प्रारंभिक जमा

जो तीसरी चीज है, वह है प्रारंभिक जमा धन जो brokers in Hindi मांग सकता है। ज़्यादातर broker meaning in Hindi के पास काफी कम धन से खाता खोला जा सकता है ( USD 50 जितना कम)। बेशक लिवरेज के साथ खरीदने की क्षमता कई गुना बढ़ सकता है। यह भी एक कारण है, जिस लिए ट्रेडिंग नए ट्रेडरों और निवेशकों के पास इतना आकर्षक है। Best brokerage firm ज़्यादातर छोटा, सूक्ष्म और मानक खाता खोलने का विकल्प देतें है, जिनमें बहुत काम प्रारंभिक जमा धन की ज़रुरत होती है। 

Admiral Markets के साथ आप केवल 1 USD या 1 EUR न्यूनतम जमा के साथ एक Invest.MT5 खाता खोल सकते हैं और सिर्फ 25 USD या 25 EUR के साथ एक Trade.MT5 या Zero.MT5 खाता खोल सकते हैं।

⭕ जमा और वापसी

आखरी में जो खर्चा है, वह है जमा और वापसी। जमा और वापसी के लिए हर best broker India का अपना खाता होता है, और अपना वित्त पोषण नीति भी होता है। ब्रोकर अपने ग्राहक को कई सारे प्रक्रिया के द्वारा अपना ट्रेडिंग खाता में पैसा जमा करने का सुविधा दे सकता है, जैसे के PayPal, क्रेडिट कार्ड, Skrill, Neteller, आदि। इसके इलावा वायर ट्रांसफर, बैंक चेक के द्वारा भी यह काम किया जा सकता है। आमतौर पर, वापसी चेक या वायर ट्रांसफर के द्वारा ही होता है।  

एक Forex brokers in India पर निर्णय लेने से पहले यह देख लें की क्या जमा और वापसी के लिए कोई शुल्क है? क्या उनके जमा और वापसी की विकल्प आपके लिए सुलभ हैं?

Admiral Markets में जमा और वापसी बहुत ही सरल है। इनका प्रक्रिया समझने के लिए हम आपको यह दो लेख पढ़ने की सलाह देंगे:

How To Transfer Money From Bank Account To Trading Account

How To Transfer Money From Trading Account To Bank Account

4. वैकल्पिक लीवरेज (ऑप्शनल लीवरेज)

वित्तीय बाज़ारों में खासकर मुद्रा बाजार में उत्तोलन या लीवरेज के माध्यम से अक्सर ट्रेडिंग होती है। कोई भी ट्रेडिंग स्थिति या खाता को सँभालने के लिए उसके लीवरेज भत्ता का जानकारी होना ज़रूरी है।

जोखिम मुक्त डेमो खाता

मुफ़्त ऑनलाइन डेमो खाता के लिए पंजीकरण करें और अपनी ट्रेडिंग रणनीति में महारत हासिल करें

 

5. आर्डर निष्पादन का गुण या स्लिपेज

कम स्लिपेज से शुरू करना अच्छी बात है, लेकिन आर्डर का निष्पादन मांग-कीमत पर होना भी ज़रूरी है।

6. स्केल्पिंग

यदि आप उच्च-आवृत्ति वाले डे ट्रेडिंग की तलाश कर रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि आपका ब्रोकर आपकी ट्रेडिंग शैलियों को सीमित न करें। स्केल्पिंग ब्रोकर के पास बाजार मूल्य, स्टॉप-लॉस और टेक-प्रॉफिट के बीच इंतजार करने की कोई न्यूनतम अवधि नहीं है।

7. ट्रेडिंग प्लेटफार्म

एक ट्रेडिंग प्लेटफार्म कोई भी निवेशक का शेयर मार्किट में प्रवेश का द्वार है। इसी लिए, अपने उपयुक्त top broker in India निश्चय करने से पहले उनका ट्रेडिंग प्लेटफार्म ज़रूर आज़मा लें। एक अच्छा ट्रेडिंग प्लेटफार्म को निम्नलिखित चीजों की पेशकश करनी चाहिए:

➡️ आसानी से इस्तेमाल किया जाएं

➡️ देखने में अच्छा हो

➡️ मौलिक विश्लेषण और तकनिकी विश्लेषण

➡️ आसानी से ट्रेडिंग

➡️ आसानी से दिखनेवाली बाई और सेल् का बटन

➡️ एक इमरजेंसी बटन ताकी ज़रुरत होने पर आपके सारे खुली स्थिति बंद हो जाये

➡️ प्लेटफार्म कितना अनुकूलित हो सकता है

➡️ कितने तरह की आदेश हो दिया जा सकता है

➡️ स्वचालित ट्रेडिंग हो सकता है या नहीं

➡️ बैकटेसटिंग हो सकता है या नहीं

➡️स्ट्रेटेजी बिल्डर है या नहीं

➡️ आपको समय पर ट्रेड सम्बंधित सुचना मिलनी चाहिए 

एक खराब तरीके से बनाया गया प्लेटफार्म का इस्तेमाल आपको भारी पर सकती है। कोई भी गलती आपको घाटे में डाल सकता है, जो आपको भावनात्मक रूप से दुखी कर सकता है। इसी लिए कोई भरोसेमंद ट्रेडिंग प्लेटफार्म चुने जैसे के मेटाट्रेडर 5, जो ज़्यादातर फोरेक्स ब्रोकर का पहला पसंद है।

कोई ऐसा ब्रोकर चुनें जो आपको किसी भी किस्म का ट्रेडिंग प्लेटफार्म इस्तेमाल करने दे। इससे आप अपने सुविधा अनुसार ट्रेडिंग कर सकेंगे। जैसे की Admiral Markets आपको कई सारे विकल्प देतें है - मेटा ट्रेडर 4 (MT4), मेटा ट्रेडर 5 (MT5) और मेटा ट्रेडर वेब ट्रेडर

दुनिया का प्रमुख बहु-परिसंपत्ति प्लेटफार्म


 

8. विशेष उपकरण और ऐड ऑन

एक अच्छा ब्रोकर आपका हमेशा सहायता करेगा। जैसे की Admiral Markets MT4 और MT5 सुप्रीम संस्करण ऐड-ऑन का सुविधा, लाइव फोरेक्स, और सीऍफ़डी ट्रेडिंग खाता, और डेमो खाता के लिए देतें हैं। ये सारे उपकरणों से फोरेक्स और सीऍफ़डी ट्रेडरों को कम प्रयास में ज़्यादा पैसा कमाने का मौका मिलता है।    

9. विनियमन

आपके लिए कोई भी best forex brokers in India निर्णय करने से पहले यह देख लीजिये की क्या वह किसी वैश्विक नियामक के द्वारा अधिकृत और विनियमित है? आजकल ऑनलाइन ट्रेडिंग वेबसाइट से जुड़ी काफी सारे घोटाला सामने आ रही है। अक्सर यह सब वेबसाइट अधिकृत होते हैं, लेकिन वह कठिन तौर से परिपालन नहीं किया जाता है। कभी कभी वह बिलकुल ही अधिकृत नहीं होते है। 

एक ब्रोकर का नियामक अनुपालन कितना ज़रूरी है ?

ग्राहकों के पूंजी का सुरक्षा और ब्रोकरों के ईमानदारी के बारे में ख्याल रखते हुए, हर ग्राहक को यह सलाह दिया जाती है, के वह अपना खाता एक विनियमित कंपनी के साथ ही खोलें।

जब बिनियमन की बात आती है तो, इस बात पर गौर करें की हर देश का अपना नियामक संस्था होता है। इसी लिए एक से ज़्यादा नियामक से विनियमित होना अच्छी बात है। इससे आप आश्वासित रहेंगे के आप किसी भी देश के उपकरण में काम कर रहे हों, जैसे के जर्मनी का DAX30 या अमरीका का US Dollar Index, आप किसी न किसी नियामक से सुरक्षित हों।

जैसे की ब्रिटैन में कोई भी सम्मानित ब्रोकर Financial Conduct Authority (FCA) से आधिकारिक तौर पर अधिकृत और विनियमित होता है।

इसके साथ ही यूरोपीय संघ के ब्रोकरों को ESMA - the European Securities and Markets Authority का दिशानिर्देश भी मानके चलना पड़ता है। ऑस्ट्रेलिया के मुख्य नियमित संस्था Australian Securities and Investments Commission है। सेशेल्स का मुख्य विनियमन संस्था सेशेल्स के Financial Services Authority है। 

अगर एक ब्रोकर विनियमित है, तो वह अपने वेबसाइट में इसका ज़िकर ज़रूर करेंगे। इसके साथ वह नियामक से मिले हुए लाइसेंस का भी उल्लेख करेंगे। ये सभी जानकारी उनके 'हमारे बारे में' (about us) और वेबसाइट के नीचेवाले फुटर अनुभाग में बिस्लेशन से लिखित रहेगा।

दुनिया के शीर्ष उपकरणों में निवेश करें

आपकी उंगलियों पर हजारों स्टॉक और ईटीएफ

 

10. पूंजी की सुरक्षा

कोई ऐसे फोरेक्स ब्रोकर चुनें जिनका बैंक खाता काफी सारे बैंक के साथ हो। 

11. ग्राहक सेवा

ट्रेडिंग के दौरान कम समय में बहुत सारे वित्तीय उपकरणों का लेन देन होता है। इसी लिए कोई भी ब्रोकर का तुरंत ग्राहक सेवा प्रदान करना आवश्यक है। कोई भी ब्रोकर के साथ खाता खोलने से पहले आपको यह देख लेना चाहिए के ज़रुरत पड़ने पर आप आसानी से कोई ग्राहक सेवा एजेंट के साथ बात कर सकें नाकि कोई स्वचालित प्रतिक्रिया में कीमती वक्त ज़ाया करनी पड़े।        

इसी लिए best forex brokers in India ढूंढते समय जल्दी से एक फ़ोन कर देख लें के वह कैसा ग्राहक सेवा प्रदान कर रहें हैं, किनता समय आपको प्रतीक्षा करना पर रहा है, उनका प्रतिनिधि कैसे आपसे बात कर रहें हैं। उनसे स्प्रेड, नियम, लीवरेज और कंपनी के बारे में चंद सवाल पूछें और देखें वह कैसे जवाब देतें हैं।

Admiral Markets में हम सिर्फ ऐसे ग्राहक सेवा प्रतिनिधि को नियुक्त करते हैं, जो कई साल ट्रेडिंग कर चुके हैं। इसी लिए वह बाजार तथा ट्रेडिंग प्लेटफार्म के बारे में विस्तारित से जानकारी रखते हैं।

इसके इलावा यह भी जान लें की आपका ब्रोकर कितने सालों से फोरेक्स ब्रोकिंग का काम कर रहें हैं, और उनका ट्रेडिंग वॉल्यूम कितना है। बड़े ब्रोकर आपको अच्छा रेट दे पाएंगे, जो नए या छोटे ब्रोकर न कर सकें।

Admiral Markets एक वैश्विक कंपनी है, जो दुनिया में 20 से भी ज़्यादा भाषा और देशों में ग्राहक सेवा प्रदान करतें हैं। ट्रेडिंग समय के दौरान और उसके बाद भी फ़ोन, ईमेल और लाइव चाट के द्वारा ग्राहक सेवा उपलब्ध है और हर ग्राहक सेवा कार्यकारी ट्रेडिंग के बारे में ज्ञानपूर्ण हैं।

12. शिक्षा

Top brokers in India अक्सर शिक्षा प्रदान करते हैं। शुरू शुरू में ट्रेडिंग से सम्बंधित सारे शब्दावली का जानकारी होना ज़रूरी है। इस समय पर ट्रेडर द्वारा दिए गए ट्रेनिंग काफी फायदेमंद हो सकती है। Admiral Markets ने कई सरे कोर्स बनाएं है, जहाँ से आप सभी तरह के ट्रेडिंग के सम्बन्ध में ज्ञान प्राप्त कर सकेंगे।

हमारी लेख Forex Trading Course: अपना फोरेक्स ट्रेडिंग शिक्षा कैसे शुरू करें? से आप ट्रेडिंग सम्बंधित शिक्षा के बारे में बहुत कुछ जान पाएंगे।

Admiral Markets के वेबसाइट में बहुत सारा शैक्षिक संसाधन आपको मिलेगा। 

आत्मविश्वास के साथ बाजारों में व्यापार करें

सभी व्यापारियों के लिए विशेष शैक्षिक संसाधन

 

Admiral Markets के साथ ट्रेडिंग - Online Forex Trading Broker

अगर आप ट्रेडिंग शुरू करने के लिए उत्सुक हैं, या इस लेख से आपको कुछ नया सिखने को मिला है, तो आपको यह जानने में ख़ुशी होगी के Admiral Markets उपर लिखे गए सभी मानदंड पूरा करता है। हम आपको 50 से भी ज़्यादा मुद्राओं में फोरेक्स और सीऍफ़डी में ट्रेड करने का मौका भी देते है। आपको वाज़ार संभंधित नवीनतम सूचना, ट्रेडिंग समाचार और तकनिकी विश्लेषण भी देतें है। और यह सभी आपको मिलता है बिलकुल मुफ्त में।

नीचे तस्वीर दिए गए तस्वीर में क्लिक करें और आज ही अपना खाता खोलें !

स्टॉक और ईटीएफ सीएफडी

Admiral Markets के साथ स्टॉक और ईटीएफ पर सीएफडी ट्रेड करें

 

 

ट्रेडिंग के सम्बन्ध में और भी अधिक जानना चाहते हैं? हम आपको यह तीन लेख पड़ने का सलाह देंगे:

20 Best Forex Trading Tools

20 सर्वश्रेष्ठ Forex Trading Tips

दुनिया के सबसे लोकप्रिय Forex EA - मेटा ट्रेडर 4 Expert Advisor

 

Admiral Markets एक विश्व स्तर पर विनियमित विदेशी मुद्रा और सीएफडी ब्रोकर जो बहु-पुरस्कार का विजेता है। बहुत सारे उपकारणों के इलावा एडमिरल मार्केट्स के वेबसाइट में कई सरे शिक्षा सम्बंधित लेखे है जहाँ से आपको फोरेक्स, शेयर मार्किट, निवेश और भी बहुत कुछ के बारे मे  तथ्य मिलेगा। दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से 500 से अधिक वित्तीय साधनों पर व्यापार की पेशकश करते हैं: मेटा ट्रेडर 4 और मेटा ट्रेडर 5 ।आज ही ट्रेडिंग शुरू करें!

 

इस लेख में दिया गया तथ्य को वित्तीय साधनों में किसी भी लेनदेन के लिए निवेश सलाह, निवेश अनुशंसाएं, प्रस्ताव या अनुशंसा के रूप में समझा नहीं जाना चाहिए। कृपया ध्यान दें कि इस तरह का ट्रेडिंग विश्लेषण किसी भी वर्तमान या भविष्य के प्रदर्शन के लिए एक विश्वसनीय संकेतक नहीं है, क्योंकि समय के साथ परिस्थितियां बदल सकती हैं। कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले, आपको इस विषय से सम्बंधित जोखिमों को समझने के लिए स्वतंत्र वित्तीय सलाहकारों से सलाह लेनी चाहिए।

TOP ARTICLES
2022 में How To Become A Trader In India
2020 के महामारी के वजह से दुनिया भर के लोगों ने पैसा कमाने के अलग अलग तरीकों के बारे में ख़ोज किया है। एक independent trader बनना इनमें से एक प्रमुख विकल्प है।क्या आप भी ट्रेडिंग को अपनी जीविका बनाने की सोच रहे हैं और how to become a trader in India का उपाय ढूंढ रहे हैं? तो यह लेख पढ़ें। यहाँ एक indep...
शेयर बाजार पर PE In Hindi क्या है? | PE Ratio In Hindi के अनुसार वैश्विक कंपनियों की रैंकिंग
What is PE ratio in Hindi? यह एक अनुपात है जो स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किसी दिए गए स्टॉक के मूल्य-आय अनुपात का प्रतिनिधित्व करता है। यह स्टॉक का चयन करने और उन शेयरों का पता लगाने के लिए एक उत्कृष्ट उपकरण है, जो कम और/या मूल्यांकित हैं। विषय सूची What Is PE In Share Market In Hindi? PE...
निष्क्रिय निवेश - एक परिचय
निष्क्रिय निवेश एक निवेश दृष्टिकोण है, जो अक्सर निवेशकों के बीच राय विभाजित कर सकता है। कुछ ऐसे लोग हैं जो इसका पुरजोर समर्थन करते हैं, लेकिन कुछ अन्य इसकी विरोधी शैली सक्रिय निवेश की वकालत करते हैं। हालांकि, हाल के वर्षों में, निष्क्रिय निवेश की लोकप्रियता काफी बढ़ गई है, क्योंकि निवेश के प्रति लोग...
सभी देखें