Crude Oil Trading In Hindi | क्रूड आयल ट्रेडिंग | कच्चे तेल की ट्रेडिंग

एडमिरल मार्केट्स
30 मिनट मे पढ़ेंं
Crude oil trading in Hindi कैसे करें? crude oil trading करने के लिए व्यापारियों के पास तीन विकल्प होते हैं: फ्यूचर्स कारोबार, कॉन्ट्रैक्ट फॉर डिफरेंस (सीएफडी) या तेल क्षेत्र से संबंधित कंपनियों या ईटीएफ में निवेश।

क्या आप जानते हैं कि crude oil trade वैश्विक पेशेवर व्यापारियों के लिए सबसे लोकप्रिय वस्तुओं में से एक है? इसका कारण यह है कि WTI और ब्रेंट दिशात्मक कदम प्रदान करते हैं, जिन्हें डे ट्रेडर और स्विंग ट्रेडर द्वारा समान रूप से सराहा जाता है। 

यदि आप क्रूड आयल ट्रेडिंग करने में रुचि रखते हैं, तो इस लेख को पढ़ना न भूलें, जिसमें हम आपको आपकी पहुंच के भीतर सभी संभावनाएं बताते हैं।

Crude Oil Meaning In Hindi - Crude Oil Trade

कच्चा तेल अपरिष्कृत पेट्रोलियम और जीवाश्म ईंधन है। यह हाइड्रोकार्बन जमा और अन्य कार्बनिक पदार्थों से बना है, और इसे गैसोलीन, डीजल, पेट्रोकेमिकल्स (जैसे प्लास्टिक), उर्वरकों और यहां तक कि दवाओं जैसे प्रयोग करने योग्य उत्पादों के उत्पादन के लिए परिष्कृत किया जा सकता है।

वैश्विक अर्थव्यवस्था में तेल एक बुनियादी और महत्वपूर्ण घटक है। इसका हमारे दैनिक जीवन पर बड़ा प्रभाव पड़ता है, और इसलिए, अर्थशास्त्रियों, व्यवसायों और व्यापारियों द्वारा समान रूप से अनुसरण किया जाता है।

एक व्यापारी के दृष्टिकोण से, कच्चा तेल दुनिया में सबसे अधिक कारोबार वाली वस्तुओं में से एक है, और इसका उपयोग सट्टा, निवेश, हेजिंग, विविधीकरण आदि के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

एक लाइव खाता खोलें

लाइव बाज़ारों में ट्रेड करें और कॉपी ट्रेडर्स की सदस्यता लें कुशलता से निवेश करें

✔️ जब तेल अधिक महंगा हो जाता है, तो यह सीधे उपभोक्ताओं की क्रय शक्ति को कम कर देता है, और अप्रत्यक्ष रूप से तेल से बने उत्पादों या कंपनियों द्वारा उनके उत्पादन के लिए उपयोग किए जाने वाले उत्पादों की लागत को बढ़ाता है।
✔️ दूसरी ओर, सस्ता तेल उपभोक्ताओं की क्रय शक्ति को बढ़ाता है।

लंबी अवधि में:


✔️ यदि तेल की कीमत अधिक है, तो इससे उत्पाद अधिक महंगे हो जाएंगे। यह आर्थिक विकास को बाधित कर सकता है, क्योंकि यह अपेक्षा से अधिक मुद्रास्फीति और ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है।

✔️ तेल की कम कीमतें उत्पादों को अधिक किफायती बनाती हैं। यह आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करता है, क्योंकि यह मुद्रास्फीति के जोखिम को कम करता है, और उच्च ब्याज दरों में वृद्धि करता है।
✔️ बहुत कम तेल की कीमतें उत्पादकों को मौजूदा उत्पादन को कम करने और नई तेल परियोजनाओं को निलंबित करने का कारण बन सकती हैं।

WTI Crude ऑयल क्या है?

WTI का मतलब वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट है। यह मेटा ट्रेडर 4 और मेटा ट्रेडर 5 पर कच्चे तेल की ट्रेडिंग के दो सबसे लोकप्रिय और प्रसिद्ध उपकरण में से एक है। 

यह US क्रूड के रूप में भी जाना जाता है। WTI एक उच्च गुणवत्ता वाला कच्चा तेल है, जो दुनिया भर में निर्यात और उपयोग किया जाता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में परिष्कृत, WTI crude एक हल्का और मीठा कच्चा तेल है। 

WTI भी एक तेल बेंचमार्क है, जिसका अर्थ है कि WTI crude oil price कच्चे तेल के खरीदारों और विक्रेताओं के लिए एक संदर्भ के रूप में कार्य करती है, और मीडिया में तेल की कीमत के रूप में भी उद्धृत की जाती है।

What Is Brent Crude?

ब्रेंट क्रूड नॉर्थ सी ब्रेंट क्रूड को संदर्भित करता है, और व्यापारिक तेल के लिए दूसरा लोकप्रिय उपकरण है। WTI की तरह, ब्रेंट क्रूड भी तेल की कीमतों के लिए एक बेंचमार्क के रूप में कार्य करता है।

यह ज्यादातर उत्तरी सागर से निकाला जाता है और उत्तर पश्चिमी यूरोप में परिष्कृत होता है। ब्रेंट यूरोप और उत्तरी अफ्रीका में एक प्राथमिक तेल प्रकार है।

Crude Oil In Hindi के मूल्य को क्या प्रभावित करता है? 

तेल की कीमतें दिन-प्रतिदिन, यहां तक कि मिनट से मिनट तक, बार-बार बदलती और उतार-चढ़ाव करती हैं। 

तेल की कीमत को क्या प्रभावित करता है? यह कई कारकों पर निर्भर करती है जैसे के,

✔️ तेल उत्पादक देशों में आपूर्ति की स्थिति
✔️ तेल उपयोगकर्ताओं और आयातकों से मांग की स्थिति
✔️ तेल कंपनियों और अन्य ऊर्जा कंपनियों को अनुवृत्ति
✔️ अंतर्राष्ट्रीय नीतियां (देशों के बीच करार)
✔️ एक तेल उत्पादक देश की आंतरिक राजनीति
✔️ विश्व तेल आपूर्ति
✔️ अन्य ऊर्जा स्रोतों के बीच प्रतिस्पर्धा
✔️ भू-राजनीतिक तनाव (जो कीमतों में वृद्धि करते हैं)
✔️ तेल के उपयोग के पैटर्न और उनके मौलिक दृष्टिकोण

जोखिम मुक्त डेमो खाता के साथ ट्रेड करें

आभासी धन के साथ ट्रेडिंग का अभ्यास करें

Crude Oil Price Trading के विकल्प 

How to invest in crude oil? How to invest in oil?

❶ सीएफडी के माध्यम से crude oil trading in India

कच्चे तेल के व्यापार के लिए एक अच्छा विकल्प सीएफडी के माध्यम से कारोबार करना है। एक सीएफडी (कॉन्ट्रैक्ट फ़ॉर डिफरेंस) एक ऐसा उपकरण है, जो आपको कच्चे तेल में मूल्य परिवर्तन से फायदा उठाने की अनुमति देता है, लेकिन भौतिक अनुबंधों को संभालने या भौतिक संपत्ति में निवेश करने की आवश्यकता के बिना।

सीऍफ़डी के माध्यम से crude oil trading strategies in India काफी लोकप्रिय है, और इसके कई फायदे भी हैं: 

 ✔️ यह तेल के भौतिक बैरल में निवेश किए बिना तेल बाजारों का व्यापार करने का विकल्प है
✔️ इसमें लॉन्ग (खरीद) या शार्ट (बेचना) व्यापार करने की मौका है, जिसका अर्थ है कि आप बढ़ते और गिरते बाजार दोनों में संभावित लाभ कमा सकते हैं
✔️ सीएफडी लीवरेज के साथ आते हैं, जिसका अर्थ है कि अपनी जमा राशि से कई गुना ज़्यादा मूल्य का ट्रेडिंग कर सकते हैं 

❷ तेल स्टॉक में निवेश करें - How To Do Crude Oil Trading In India

How to trade crude oil in India के लिए दूसरा विकल्प तेल के खोज, उत्पादन और शोधन में शामिल कंपनियों के शेयरों में निवेश करना है। इससे आप जब उन शेयरों की कीमत बढ़ती है, तब उससे मुनाफा कमा सकते हैं। इन कंपनियों में BP, रॉयल डच शेल, एक्सॉन मोबिल और Total SE जैसे वैश्विक बड़े कम्पनियां शामिल हैं।

इस दृष्टिकोण के साथ चुनौती यह है कि, क्योंकि आप सीधे तेल में ही निवेश नहीं कर रहे हैं, आप जिन कंपनियों में निवेश करते हैं, उनका शेयर मूल्य हमेशा तेल की कीमत में परिवर्तन को प्रतिबिंबित नहीं कर सकता है। 

शेयर के माध्यम से how to invest in oil के बारे में अधिक जानने के लिए आप हमारी यह लेख पढ़ सकते हैं:

How To Buy Crude Oil Stocks

दुनिया के शीर्ष उपकरणों में निवेश करें

आपकी उंगलियों पर हजारों स्टॉक और ईटीएफ

❸ तेल फ्यूचर्स के माध्यम से How To Trade Crude Oil In India

अगला विकल्प तेल फ्यूचर्स कारोबार है। यह ब्रेंट और how to trade WTI crude oil from India दोनों के व्यापार के लिए एक सामान्य विकल्प है।

फ्यूचर्स एक खरीदार और एक विक्रेता के बीच हस्ताक्षरित अनुबंध होते हैं, जो एक निश्चित मात्रा में एक निश्चित मूल्य पर भविष्य की तारीख में तेल का वितरण किया जाता है। वर्तमान में, सभी फ्यूचर्स अनुबंध मानकीकृत हैं, अर्थात, खरीदार और विक्रेता की परवाह किए बिना, उनकी पूर्व-स्थापित समाप्ति तिथि, गुणवत्ता और मात्रा होती है।

फ्यूचर्स ट्रेडिंग के लिए व्यापारी निर्णय समर्थन टूल का उपयोग कर सकते हैं जैसे:
➡️ मौलिक विश्लेषण
➡️ तकनीकी विश्लेषण

इन विधियों का लक्ष्य सफलता की संभावना और लाभ कमाने की क्षमता को बढ़ाना है।

❹ ईटीएफ के माध्यम से Crude Oil Trade

How to trade in crude oil in India के लिए ईटीएफ एक अच्छा विकल्प है। तेल ईटीएफ (एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड) में निवेश करना है। ईटीएफ एक ऐसी संपत्ति है जो अन्य परिसंपत्तियों (जैसे स्टॉक) का एक समूह में निवेश करता है। इसका मुख्य लाभ यह है कि यह निवेशक को व्यक्तिगत उपकरणों को अलग अलग से लेने के बजाय बड़े बाजार में निवेश करने या व्यापार करने का अवसर देता है।

कच्चे तेल ईटीएफ सहित और भी कई सारे कमोडिटी ईटीएफ उपलब्ध हैं। इनमें तेल कंपनियों के शेयरों के साथ-साथ कच्चे तेल के वायदा शामिल हो सकते हैं।

अन्य परिसंपत्तियों जैसे ही ईटीएफ में निवेश करते समय आप एक कीमत पर खरीदते हैं, और फिर ईटीएफ का मूल्य बढ़ने पर अपने निवेश को बंद कर देते हैं, और अंतर पर आपको मुनाफा होता है। 

Crude Oil Trading Tips

सबसे पहला tips for crude oil trade एक विश्वसनीय ब्रोकर खोजना है जो आपको प्रतिस्पर्धी शर्तों पर कच्चे तेल की ट्रेडिंग करने का मौका दे। याद रखें एक अच्छी तरह से विनियमित दलाल खोजें जो आपके पैसे को सुरक्षित रखें। 

Admiral Markets सेशेल्स के फाइनेंसियल सर्विसेज अथॉरिटी द्वारा एक प्रतिभूति डीलर के रूप में विनियमित है। 

एक दलाल खोजने के बाद आपको एक रणनीतिक दृष्टिकोण ठीक करना पड़ेगा, जिसका उपयोग करके आप तेल का व्यापार करेंगे। व्यापार करते समय उचित जोखिम प्रबंधन को लागू करना महत्वपूर्ण है, लेकिन यह विशिष्ट तेल ट्रेडिंग रणनीतियों को लागू करने के लिए भी मूल्यवान है। अधिकांश व्यापारिक विधियों को विभिन्न शैलियों और समय सीमा में विभाजित किया जा सकता है।

यहाँ तेल, कमोडिटीज़ और अन्य वित्तीय साधनों की ट्रेडिंग करने के मुख्य तरीकों का सारांश दिया गया है:

ट्रेडिंग शैलियां: 

▶️ दीर्घकालिक ट्रेडिंग: व्यापारी साप्ताहिक या दैनिक चार्ट जैसे उच्च समय के फ्रेम का उपयोग करते हैं।

▶️ स्विंग ट्रेडिंग: व्यापारी 4 घंटे और दैनिक चार्ट जैसे मध्य समय सीमा का उपयोग करते हैं।

▶️ इंट्रा-डे ट्रेडिंग: व्यापारी निचले समय के फ्रेम जैसे 15 और 60 मिनट के चार्ट का उपयोग करते हैं।

▶️ स्कल्पिंग: व्यापारी 1 और 5 मिनट के चार्ट की तरह बहुत कम चार्ट का उपयोग करते हैं।

जोखिम मुक्त डेमो खाता

मुफ़्त ऑनलाइन डेमो खाता के लिए पंजीकरण करें और अपनी ट्रेडिंग रणनीति में महारत हासिल करें

क्या यह CrudeOil Trading करने का अच्छा समय है?

कई व्यापारी सोच रहे होंगे: क्या 2022 में तेल में निवेश करना अच्छा है? आइए मेटा ट्रेडर में निम्नलिखित तेल चार्ट देखें!

Source: Admiral Markets MetaTrader 5. Weekly Brent chart. Data range: from August 20, 2017 to February 25, 2022 - Made on February 25, 2022 at 9:00 CET. कृपया ध्यान दें कि पिछला प्रदर्शन भविष्य के परिणामों का विश्वसनीय संकेतक नहीं है।

ऊपर दिए गए ग्राफ़ में हम एक अंतर देख सकते हैं, जो 9 मार्च, 2020 को पिछले काला सोमवार (Black Monday) से मेल खाता है। वह ब्लैक मंडे, तेल एक बड़े मंदी के अंतर के साथ खुला और पूरे दिन में यह 30% से अधिक गिर गया, 2016 के अंत के बाद से सबसे कम पर पहुंच गया।

कारण? ओपेक के उत्पादन में कटौती में शामिल होने से रूस के इनकार के जवाब में अरामको द्वारा कारोबार किए गए तेल की कीमत को कम करने का सऊदी अरब का निर्णय। बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सरकारों द्वारा कोरोनावायरस महामारी को रोकने के लिए अपनाए गए घर में रहने के उपायों के कारण कीमतों में और गिरावट आई, जिससे कच्चे तेल की मांग कम से कम हो गई।

अप्रैल के मध्य में जब तक तथाकथित 'contango effect' नहीं हुआ, तब तक कीमत नीचे की प्रवृत्ति का अनुसरण कर रही थी। वहां से, कीमतों में वृद्धि शुरू हो गई, विशेष रूप से कोरोनोवायरस के खिलाफ वसंत में अपनाई गई गतिशीलता प्रतिबंधों को हटा दिया गया और मांग में सुधार हुआ। हालांकि, शरद ऋतु के आगमन और यूरोप में नए घर में रहने के उपायों के साथ, तेल 40 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर समेकित करने में विफल रहा।

क्या तेल में निवेश करते समय यह एक समस्या है? ज़रुरी नहीं। अस्थिरता व्यापारियों, विशेष रूप से सीएफडी व्यापारियों के लिए अवसर पैदा करती है, जो लॉन्ग और शार्ट व्यापार करके बढ़ते और गिरते दोनों बाजारों में लाभ उठा सकते हैं।

हालांकि, ध्यान रखें कि अस्थिरता जोखिम को बढ़ाती है, इसलिए शेयर बाजार में तेल में निवेश करते समय पर्याप्त जोखिम प्रबंधन होना जरूरी है।

तेल में वृद्धि और यूरोप में तनाव

चार्ट में हम यह भी देख सकते हैं कि 2020 की दुर्घटना के बाद से तेल कैसे ऊपर की ओर रहा है। फरवरी 2022 के अंतिम सप्ताह में, ब्रेंट ऑयल की कीमत 2014 के बाद पहली बार 100 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चली गई। समय के साथ इस निरंतर वृद्धि को कोविड -19 महामारी से पूर्ण सुधार में अर्थव्यवस्थाओं के फिर से खुलने के बाद, मांग में वृद्धि का समर्थन है।

तेल की कीमत में पिछली महत्वपूर्ण वृद्धि, चार्ट पर अंतिम ऊर्ध्वाधर मोमबत्ती के रूप में परिलक्षित हुई, रूस और यूक्रेन के बीच पूर्वी यूरोप में तनाव के कारण हुई थी। यह बढ़ी हुई अनिश्चितता उच्च और अस्थिर कीमतों की ओर ले जाने की संभावना है। 

Crude Oil Trading Strategies In India

अब समय है यह सोचने का how to trade crude oil in India कि तेल का व्यापार कैसे किया जाए। आपकी पसंद की ट्रेडिंग शैली और समय सीमा के आधार पर तेल के व्यापार के लिए अलग-अलग रणनीतियाँ हैं।

यहाँ कुछ आम crude oil trading strategy हैं:

➡️ मौलिक विश्लेषण और लंबी अवधि के लिए तेल में निवेश:

जब व्यापारी मौलिक विश्लेषण के आधार पर तेल में निवेश करते हैं, तो वे लंबे समय तक संचालन करने और बनाए रखने के लिए ओपेक (पेट्रोलियम निर्यातक देशों का संगठन) या IEA (विश्व ऊर्जा एजेंसी) के पूर्वानुमान जैसे दीर्घकालिक बाजार डेटा को देखते हैं।

➡️ मौलिक और अल्पकालिक विश्लेषण:

जब व्यापारी साप्ताहिक आंकड़ों (तेल भंडार, ड्रिल किए गए सक्रिय कुओं की संख्या) और तेल बाजार की घटनाओं का उपयोग करते हैं, तो वे कम समय में व्यापार पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

➡️️ इलियट तरंगों का विश्लेषण और मध्यम अवधि:

इलियट वेव H1 और उससे ऊपर के ऑयल चार्ट पर ट्रेडिंग के लिए बहुत उपयोगी होते हैं।

➡️️️ तकनीकी और मध्यम अवधि का विश्लेषण:

तकनीकी विश्लेषण का उपयोग लंबी अवधि के ट्रेडों के लिए किया जा सकता है, लेकिन इसका उपयोग अक्सर छोटी अवधि की स्थिति, खरीदने या बेचने के लिए किया जाता है। ट्रेडर एक ठोस ट्रेडिंग योजना बनाने के लिए तकनीकी संकेतकों का उपयोग कर सकते हैं, जैसे कि प्रवृत्ति रेखाएं, फिबोनाची रिट्रेसमेंट, और ऑसिलेटर्स (RSI, स्टोचेस्टिक ...)।

➡️ तकनीकी और अल्पकालिक विश्लेषण:

यह वह तरीका है जो स्केलपर्स के लिए आरक्षित है। वे तकनीकी व्यापारिक संकेतकों का उपयोग करने के लिए अधिक इच्छुक हैं, जिनकी गणना स्वचालित रूप से की जाती है। वे ट्रेंड लाइन और फिबोनैचि रिट्रेसमेंट जैसे मैनुअल संकेतकों के बजाय पैराबोलिक SAR, केल्टनर चैनल और पिवट पॉइंट जैसे संकेतकों का उपयोग करते हैं। क्यों? क्योंकि अल्पावधि में कीमतें तेजी से बढ़ती हैं, और निर्णय जल्दी लेने की आवश्यकता होती है।

➡️️ तीन व्यापारिक शैलियों का संयोजन

कुछ व्यापारी तीनों व्यापारिक शैलियों को एक वैश्विक दृष्टिकोण में जोड़ना पसंद करते हैं। हालांकि व्यापारियों के लिए अलग-अलग दृष्टिकोण अपनाने का एक फायदा है, लेकिन निर्णय न ले पाने का जोखिम अधिक है।

कमोडिटी सीएफडी ट्रेड करें

कच्चे तेल, कॉफी, सोना, चांदी और अन्य पर सीएफडी का व्यापार करें!

Crude Oil Trading Strategy India उदाहरण

आइए मेटा ट्रेडर में एक तेल चार्ट देखें। दैनिक चार्ट पर तकनीकी विश्लेषण का उपयोग करते हुए विवेकाधीन व्यापार का एक उदाहरण नीचे दिया गया है।

कृपया ध्यान दें कि विभिन्न व्यापारिक उपकरणों और संकेतकों को कैसे संयोजित किया जाए, यह इसका सिर्फ एक उदाहरण है।

आइए इस रणनीति को मेटा ट्रेडर 5 में एक तेल चार्ट पर आधारित और मेटा ट्रेडर सुप्रीम संस्करण का उपयोग करके देखें।
पहले अपने ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म में निम्नलिखित टूल जोड़ें:
EMA 100 (100 अवधियों की घातीय चलती औसत)
➡ मेटा ट्रेडर सुप्रीम एडिशन प्लगइन का केल्टनर चैनल
➡ फ्रैक्टल संकेतक

Source: Admiral Markets MT5. Brent daily chart. Data range: from September 9, 2020 to February 25, 2022 - Made on February 25, 2022 at 12 noon CET. कृपया ध्यान दें कि पिछला प्रदर्शन भविष्य के परिणामों का विश्वसनीय संकेतक नहीं है।

इस crude oil trading strategy की कुंजी यहां दी गई है:

1. तेल विश्लेषण: घातीय चलती औसत का उपयोग करके प्रवृत्ति ट्रेडिंग
EMA 100 के ऊपर लांग पोजीशन (खरीदें ट्रेड) EMA  100 के नीचे शॉर्ट पोजीशन (बेचने का ट्रेड)
2. प्रवेश बिंदु का अनुकूलन करें: ब्रेकआउट
एक खरीद व्यापार के लिए केल्टनर चैनल प्रतिरोध के ऊपर एक मोमबत्ती के साथ ब्रेकआउट  एक बिक्री व्यापार के लिए केल्टनर चैनल समर्थन के नीचे एक मोमबत्ती के साथ ब्रेकआउट
3. स्टॉप लॉस रखें
व्यापारी स्टॉप लॉस को क्लोजिंग फ्रैक्टल के ऊपर या नीचे सेट कर सकते हैं।  केल्टनर चैनल के अंदर मूल्य रिटर्न के बाद नए समायोजन उपलब्ध हैं
4. जोखिम प्रबंधन
स्टॉप लॉस का उपयोग करें और ट्रेड के कम से कम 1 के जोखिम/इनाम अनुपात तक पहुंचने के बाद स्थानांतरित करें

सबसे कठिन काम शायद गलत समय पर स्थिति लेने से बचना है, उदाहरण के लिए जब प्रतिरोध या समर्थन स्तर आ रहे हों।

याद रखें, यह एक पूर्ण व्यापार प्रणाली नहीं है, बल्कि तकनीकी उपकरणों और संकेतकों का एक संयोजन है, जो व्यापारियों को यह दिखाने के लिए कि कैसे अपनी खुद की व्यापार प्रणाली का निर्माण किया जाए। हमेशा ध्यान रखें कि लाइव खाता में ट्रेड करने से पहले सभी ट्रेडिंग सिस्टम का डेमो खाता पर परीक्षण किया जा सकता है।

जोखिम मुक्त डेमो खाता

मुफ़्त ऑनलाइन डेमो खाता के लिए पंजीकरण करें और अपनी ट्रेडिंग रणनीति में महारत हासिल करें

Admiral Markets का Crude Oil Commodity Trading की स्थिति

तेल में निवेश करने की पेशकश करने वाले दलालों में, Admiral Markets व्यापारियों के लिए बहुत ही रोचक व्यापारिक स्थितियां प्रदान करता है:

✔️ तेल सीएफडी के व्यापार के लिए कोई अतिरिक्त कमीशन नहीं है
✔️ बाजार में निष्पादन
✔️ बाजार मूल्य और स्टॉप लॉस और टेक प्रॉफिट ऑर्डर के बीच कोई न्यूनतम दूरी नहीं है
✔️ सभी व्यापारिक शैलियों की अनुमति है
✔️ हेजिंग उपलब्ध
✔️ एक लाइसेंस प्राप्त और विनियमित ब्रोकर के साथ व्यापार
✔️ जमा और निकासी के कई विकल्प

कच्चे तेल की ट्रेडिंग - निष्कर्ष 

जैसा कि हमने इस लेख में सीखा है, तेल व्यापारियों के लिए सबसे अधिक कारोबार वाली वस्तुओं में से एक है, मुख्यतः इसकी अस्थिरता के कारण।

यह अस्थिरता इस तथ्य के कारण है कि तेल की कीमतें समय-समय पर बदलती रहती हैं, और अक्सर उतार-चढ़ाव करती रहती हैं। ये कीमतें कई कारकों से प्रभावित होती हैं, जिन्हें ध्यान में रखा जाना चाहिए, विशेष रूप से भू-राजनीतिक निर्णय। इसलिए आपको शेयर बाजार में तेल में निवेश करने का निर्णय लेने से पहले आर्थिक कैलेंडर के बारे में पता होना चाहिए।

क्या आप crude oil trading शुरू करने के लिए उत्सुक हैं? तो देर न करें - आज ही नीचे तस्वीर में क्लिक करके एक लाइव ख़ाता खोलें और ट्रेडिंग शुरू करें!

एक लाइव खाता खोलें

लाइव बाज़ारों में ट्रेड करें और कॉपी ट्रेडर्स की सदस्यता लें कुशलता से निवेश करें

 

 Can we trade in crude oil in India?

हाँ ज़रूर। के साथ एक ट्रेडिंग खाता खोलकर आप वैश्विक तेल की कीमतों का उठाव चराव में भाग ले सकते हैं। 

 

How do you trade crude oil?

कच्चे तेल में निवेश करने के कुछ लोकप्रिय विकल्प हैं:
1. सीएफडी 
2. फ्यूचर्स 
3. तेल कंपनी के स्टॉक 
4. ईटीएफ 

ट्रेडिंग के सम्बन्ध में और भी अधिक जानना चाहते हैं? हम आपको यह तीन लेख पड़ने का सलाह देंगे:

FAANG Technology Stocks में निवेश कैसे करें?

Palladium क्या है और इसमें निवेश कैसे करें?

कैसे आप gold trading शुरू कर सकते हैं

 

Admiral Markets एक विश्व स्तर पर विनियमित विदेशी मुद्रा और सीएफडी ब्रोकर जो बहु-पुरस्कार का विजेता है। बहुत सारे उपकारणों के इलावा एडमिरल मार्केट्स के वेबसाइट में कई सरे शिक्षा सम्बंधित लेखे है जहाँ से आपको फोरेक्स, शेयर मार्किट, निवेश और भी बहुत कुछ के बारे मे  तथ्य मिलेगा। दुनिया के सबसे लोकप्रिय ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से 500 से अधिक वित्तीय साधनों पर व्यापार की पेशकश करते हैं: मेटा ट्रेडर 4 और मेटा ट्रेडर 5 ।आज ही ट्रेडिंग शुरू करें!

 

विश्लेषणात्मक सामग्री के बारे में जानकारी:

दिया गया तथ्य एग्लोब इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड की वेबसाइट पर प्रकाशित सभी विश्लेषण, अनुमान, पूर्वानुमान, बाजार समीक्षा, साप्ताहिक दृष्टिकोण या अन्य समान आकलन या जानकारी (इसके बाद "विश्लेषण") के बारे में अतिरिक्त जानकारी प्रदान करता है। कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले कृपया गौर से निम्नलिखित पर ध्यान दें:

  1. यह एक विपणन संचार है। सामग्री केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए प्रकाशित की जाती है और इसे किसी भी तरह से निवेश सलाह या सिफारिश के रूप में नहीं माना जाता है। इसे निवेश अनुसंधान की स्वतंत्रता को बढ़ावा देने के लिए डिज़ाइन की गई कानूनी आवश्यकताओं के अनुसार तैयार नहीं किया गया है, और यह निवेश अनुसंधान के प्रसार से पहले किसी भी निषेध के अधीन नहीं है।
  2. कोई भी निवेश निर्णय अकेले प्रत्येक ग्राहक द्वारा किया जाता है जबकि एग्लोब इंवेस्टमेंट्स लिमिटेड ऐसे किसी भी निर्णय से होने वाले किसी भी नुकसान या क्षति के लिए जिम्मेदार नहीं होगा, चाहे वह सामग्री पर आधारित हो या नहीं।
  3. हमारे ग्राहकों के हितों और विश्लेषण की निष्पक्षता की रक्षा के लिए, एग्लोब इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड ने हितों के टकराव की रोकथाम और प्रबंधन के लिए प्रासंगिक आंतरिक प्रक्रियाएं स्थापित की हैं।
  4. विश्लेषण एक स्वतंत्र विश्लेषक द्वारा उनके व्यक्तिगत अनुमानों के आधार पर तैयार किया जाता है।
  5. जबकि यह सुनिश्चित करने के लिए हर उचित प्रयास किया जाता है कि सामग्री के सभी स्रोत विश्वसनीय हैं और सभी जानकारी यथासंभव, समझने योग्य, समय पर, सटीक और पूर्ण तरीके से प्रस्तुत की जाती है, एग्लोब इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड सटीकता या विश्लेषण में निहित किसी भी जानकारी की पूर्णता की गारंटी नहीं देता है।
  6. सामग्री के भीतर इंगित वित्तीय साधनों के किसी भी प्रकार के पिछला प्रदर्शन या मॉडल को भविष्य के किसी भी प्रदर्शन के लिए एग्लोब इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड द्वारा व्यक्त या निहित वादे, गारंटी या निहितार्थ के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। वित्तीय साधन के मूल्य में वृद्धि और कमी दोनों हो सकती है और परिसंपत्ति मूल्य के संरक्षण की गारंटी नहीं है।
  7. लीवरेज्ड उत्पाद (कॉन्ट्रैक्ट्स फॉर डिफरेंस सहित) प्रकृति में सट्टा हैं और इसके परिणामस्वरूप नुकसान या लाभ हो सकता है। ट्रेडिंग शुरू करने से पहले, कृपया सुनिश्चित करें कि आप इसमें शामिल जोखिमों को पूरी तरह से समझते हैं।
TOP ARTICLES
चीन के शंघाई इंडेक्स में निवेश कैसे करें
सालों से, निवेशक चीन के आर्थिक उछाल को भुनाने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, देश के दो स्टॉक एक्सचेंजों, शंघाई स्टॉक एक्सचेंज और शेनझेन स्टॉक एक्सचेंज तक पहुंच हासिल करना विदेशी निवेशकों के लिए मुश्किल है।सौभाग्य से, चीन के शेयर बाजार सूचकांकों जैसे Shanghai index, जिसे Shanghai SSE इंडेक्स भी कहा जा...
FTSE 100 इंडेक्स | यूके की मुख्य सूचकांक को जानें
1984 में, फाइनेंशियल टाइम्स ऑफ लंदन और लंदन स्टॉक एक्सचेंज ने मिलकर यूके की कंपनियों में निवेश के लिए सबसे लोकप्रिय बाजार संकेतकों में से एक बनाया। नवगठित कंपनी, FTSE ग्रुप (फाइनेंशियल टाइम्स और स्टॉक एक्सचेंज ग्रुप), दुनिया का सबसे लोकप्रिय इंडेक्स में से एक को बनाए रखता है, जो यूके स्टॉक मार्केट क...
शेयर बाजार सूचकांक: ट्रेडिंग और निवेश के लिए एक संपूर्ण गाइड
आपने विभिन्न समाचार कार्यक्रमों में डॉव जोन्स, S&P 500, नैस्डैक, DAX 30, आदि जैसे नाम तो देखे ही होंगे। लेकिन बहुतों को पता नहीं है कि इन नामों के पीछे क्या है और वे विश्व स्टॉक सूचकांकों कीमतों में बदलाव से कैसे लाभ उठा सकते हैं।क्या आप इस विषय के बारे में अधिक जानने के लिए इच्छुक हैं? तब आप सह...
सभी देखें